परीक्षा के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां। Precautions to be taken during the examination 2023

आज के समय में शिक्षा ही सब कुछ है क्योंकि शिक्षा ही व्यक्ति के जीवन में बदलाव ला सकती है। इसलिए शिक्षा के क्षेत्र में कम्पटीशन बहुत ज्यादा है। कई बच्चे मेहनत तो बहुत करते हैं, लेकिन उतने मार्क्स नहीं ला पाते जितने चाहिए होते हैं। उन्हें पता ही नहीं होता है कि पेपर कैसे देना है और परीक्षा के दौरान क्या – क्या सावधानियां रखनी हैं।

इसलिए वे पेपर ठीक से हल नहीं कर पाते।आज मैं यह लिखने का प्रयास कर रहा हूं कि परीक्षा(examination)के दौरान क्या सावधानियां बरतनी चाहिए ताकि आपकी तैयारी बहुत अच्छी है तो भी कुछ गलतियों के कारण पेपर खराब नहीं हो।इस ब्लॉग पोस्ट में परीक्षा हॉल में बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में चर्चा करूंगा ताकि आप वो गलतियां न करें जो ज्यादातर छात्र करते हैं।

परीक्षा के दौरान

परीक्षा के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां:

1.अपनी सीट ठीक से जांचें:- जब भी आप परीक्षा हॉल में जाएं तो अपना रोल नंबर जांच लें और अपनी सीट पर बैठें। क्योंकि कई बार जल्दबाजी में बच्चे दूसरे की सीट पर बैठ जाते हैं और ओ.एम.आर. भरने के बाद पता चलता है कि वह गलत सीट पर बैठ गए हैं। इसलिए आप अपनी सीट और रोल नंबर जरूर जांच लें और अगर कोई समस्या हो तो परीक्षक से जरूर पूछें।

अपनी सीट भी चेक कर लें, अगर वह टूटी हुई है या आपको बैठने में परेशानी हो रही है तो उसे बदल लें, नहीं तो हर समय आपका ध्यान उस पर जाता रहेगा और पेपर में दिक्कत होगी। छोटी-छोटी बातें होती हैं जो हमें कई बार परेशान कर देती हैं।

इसलिए इस बात का ध्यान रखें। दूसरी बात यह कि आजकल ऑनलाइन पेपर ज्यादा हो रहे हैं, इसलिए जिस कंप्यूटर पर आप बैठे हैं, उसे चेक कर लें कि माउस ठीक से काम कर रहा है या नहीं। आपने जांच क्यों नहीं की, क्योंकि गलती चाहे किसी की भी हो, हर कोई अपना गुस्सा स्टूडेंट पर उतारता है।

2. ओ.एम.आर. फॉर्म को ध्यान से भरें और निर्देशों को ध्यान से पढ़ें:- यदि आपकी परीक्षा(examination)ओ.एम.आर. आधारित है तो फिर इसे ध्यानपूर्वक भरें। कई छात्र गलतियाँ करते हैं, जल्दबाजी न करें, धीरे-धीरे पढ़ें और भरें। यदि कोई समस्या हो तो परीक्षक से पूछें, यह केवल आपकी मदद के लिए है, लेकिन गलत न भरें और जांच लें कि कोई भी कॉलम खाली न रह जाए और बबल भरते समय विशेष ध्यान दें, ज्यादातर गलतियां इसी में होती हैं।

3.प्रश्न पत्र पर लिखे निर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़ें। अधिकतर छात्र इन्हें पढ़ना जरूरी नहीं समझते और कई गलतियां कर बैठते हैं। यदि कागज पर कुछ निर्देश लिखे होंगे तो वे ऐसे नहीं छपे होंगे। कुछ महत्वपूर्ण होंगे, तभी उन्हें पेपर में जगह दी गई है।क्योंकि पेपर का पैटर्न बदल गया होगा, नकारात्मक मूल्यांकन या कुछ हिस्से में बदलाव हो गया होगा। इसलिए पेपर पर लिखे निर्देशों को जरूर पढ़ें, इससे आपको पेपर को समझने में मदद जरूर मिलेगी, नहीं तो बाद में अगर कुछ गलत हो गया तो कोई रास्ता नहीं बचेगा।

4.प्रश्न पत्र को ध्यान से पढ़ें:- प्रश्न पत्र मिलते ही सभी की हृदय गति (HEARTBEAT) तेज हो जाती है। इसके लिए सबसे पहले अपनी आंखें बंद करके 4-5 सेकेंड के लिए गहरी सांस लें और रिलैक्स होने की कोशिश करें। फिर अपना प्रश्न पत्र शुरू करें। प्रत्येक प्रश्न को ध्यान से पढ़ें क्योंकि कई बार ठीक से न पढ़ने पर वह गलत हो जाता है। इसलिए प्रश्न को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

5.आसान प्रश्न से शुरुआत करें: यह प्रश्न पत्र का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसमें अधिकांश छात्र गलतियाँ करते हैं। प्रश्न पत्र कई भागों में विभाजित होता है सबसे पहले आपको उस भाग को हल करना होगा जो आपके लिए आसान है ताकि आपका दिमाग ठीक से काम करे क्योंकि आसान भाग को हल करने से आपको आत्मविश्वास मिलता है और प्रश्न पत्र आसान हो जाता है। क्योंकि यदि पहला भाग कठिन होगा तो आपको लगेगा कि पेपर बहुत कठिन है और आप निराश हो जायेंगे।

6.समय सीमा का ध्यान रखें: प्रश्न पत्र एक समय सीमा को ध्यान में रखकर बनाया जाता है, जिसका उत्तर भी आपको उसी समय सीमा में देना होता है। प्रत्येक प्रश्न पत्र का 40% भाग सभी के लिए आसान होता है। बाकी प्रश्नों का स्तर बढ़ जाता है. केवल 20% प्रश्न पत्र ही बहुत उच्च स्तर का है। सभी प्रश्नों के अंक समान हैं और उनके लिए आवंटित समय भी समान है। इसलिए किसी भी प्रश्न को आवश्यकता से अधिक समय न दें। कई छात्र एक ही प्रश्न को बहुत अधिक समय दे देते हैं, इतने समय में आप 5-6 प्रश्न कर चुके होते हैं।

इस तरह छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखने से पेपर अच्छे से हल हो सकता है और सफलता की संभावना भी बढ़ जाती है।
मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को कुछ मदद जरूर मिलेगी।

परीक्षा(examination)से पहले और परीक्षा के दिन बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में मैंने 2 ब्लॉग और लिखें है, अगर आपने नहीं पढ़ा है तो उन्हें भी पढ़ लें।
                                         

Leave a Comment